Processor kya hota hai पूरी जानकारी आसान भाषा में 2021

किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का जो भी मुख्य पार्ट होता है वो होता है उसका प्रोसेसर क्योकि प्रोसेसर ही उस डिवाइस में होने वाली जो भी प्रोसेस होती है वो तेज गति के साथ और आसानी से होती है तो अगर आप प्रोसेसर के बारे में ठीक तरह से भी जानते और आप Processor kya hota hai इसको एकदम बारीकी से सझना चाहते है तो ये पोस्ट आपके बहुत ही ज्यादा काम आने वाली है और आप प्रोसेसर के बारे में आपको मैं आसान भाषा में आपको समझने की कोसिस करूँगा।

Processor kya Hota hai|what is processor in Hindi-

प्रोसेसर एक छोटी सी चिप होती हैं जो की बहुत ही छोटी सी होती है और लगभग हर प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में पायी जाती है पर यहाँ पर मैं आपको कंप्यूटर का उद्धरण देकर आपको चीजों को समझने वाला हूँ।

तो प्रोसेसर कम्प्यूटर या किसी भी इलेक्ट्रोनिक डिवाइस में रहती हैं. इसका बेसिक काम इनपुट लेकर उचित आउटपुट देना हैं. दिखने में ये कार्य बहुत आसान हैं, लेकिन अगर हम इस कर्म को बारीकी से एनालिसिस करेंगे तो  इसके पीछे बहुत सारी जटिल गणनाएं होती हैं.

आजकल के जो आधुनिक प्रोसेसर आते है उन प्रोसेसर में  प्रोसेसर कुछ सेकंड्स में ट्रिलियन केल्क्युलेशन कर लेते हैं. कम्प्यूटर का सेन्ट्रल प्रोसेसर सीपीयू जिसे सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (CPU) भी कहा जाता है, प्रोसेसर सिस्टम के सभी बेसिक इंस्ट्रक्शन को हेंडल करता हैं. जिनमें माउस, कीबोर्ड इनपुट और सभी रनिंग एप्लीकेशन शामिल हैं।

प्रोसेसर के कॉम्पोनेन्ट-

तो अब जब आपको समझ में आ गया है की प्रोसेसर क्या होता है तो अब बात आती है की प्रोसेसर के मुख्य कॉम्पोनेन्ट कौन कौन से होते है इस बारे में भी थोड़ा बात कर लेते है क्योकि इससे आपको प्रोसेसर को जानने में कुछ और ज्यादा फायदा होगा और इस बारे में भी थोड़ा बात कर लेते है?

तो प्रोसेसर के मुख्य दो भगा होते है –

  1. कंट्रोल यूनिट(CU) और
  2. अरिथमेटिक एंड लॉजिकल यूनिट (एएलयू-ALU)

कंट्रोल यूनिट(CU)-

तो सबसे पहले बात कर लेते है कंट्रोल यूनिट के बारे में जिसे हम CU1 के नाम से भी जानते है सीपीयू का ये हिस्सा निर्देशों के पालन में मदद करता हैं. यह ये बताता हैं कि निर्देशों का पालन कैसे करना हैं।

तो जो भी कंप्यूटर  में होने वाली प्रोसेस होती है जो भी किर्याएँ बहुत ही तेजी के साथ होने वाली होती है उनको कंप्यूटर की इस यूनिट द्वारा कण्ट्रोल किया जाता है और उन कार्यो को पूर्ति की जाती है।

कंट्रोल यूनिट दो तरह की होती हैं- हार्डवायर कंट्रोल यूनिट और माइक्रोप्रोग्रामेबल कंट्रोल यूनिट. जिनमें हार्डवेयर कंट्रोल यूनिट निर्देशों की प्रोसेस में तेजी लाता हैं, जबकि माइक्रोप्रोग्रामेबल काफी फ्लेक्सिबल हैं।

अरिथमेटिक एंड लोजिकल यूनिट (Arithmetic and Logical Unit) — ALU :-

इसे हम सब ALU1 के नाम से भी जानते है और इसका सबसे बड़ा काम ये होता है की ये यूनिट अपने नाम के अनुसार सभी अरिथमेटिक और लॉजिकल कम्प्यूटेशन का काम करती हैं इसमें एडिशन, सब्सट्रैकशन जैसे ओपरेशन लॉजिक गेट की सहायता से सम्पन्न होते हैं और ज्यादा तर काम और ज्यादातर प्रोसेस इसमें आने वाले  ज्यादातर लॉजिक गेट 2 इनपुट लेते हैं और एक आउटपुट देते हैं।

प्रोसेसर कैसे काम करता हैं ?-

तो अब मैं मानता हूँ की आपको प्रोसेसर के बारे में काफी कुछ समझ में आने लगा होगा और आप प्रोसेसर के बारे में काफी कुछ जान चुके होंगे।

तो अब बढ़ते है हम एक और अगले तथ्य की और और अब बात करते है की आखिरकार प्रोसेसर काम कैसे करते है और जो भी प्रोसेसर के द्वारा वर्क होता है सीओ किस तरह से होता है और क्या क्या किर्याएँ होती है तो इस बारे में आपको मैं समझने की कोशिस करता हूँ जिससे आपको और भी चीजे समझ में आ सके।

प्रोसेसर की वर्किंग को समझने के लिए रजिस्टर, रजिस्टर-लेचेज, इंस्ट्रक्शन जैसी टर्म्स को समझना भी जरुरी हैं. इन सब बेसिक टर्म्स को समझने के बाद ये समझना आसान होता हैं कि कम्प्यूटर का प्रोसेसर कार्य कैसे करता हैं और साथ ही कम्प्यूटर को दिए जाने वाले इंस्ट्रक्शन एग्जीक्यूट कैसे होते हैं. तो यह सभी जानकारी आपको यहाँ दी हुई है –

  • स्टोरेज- रजिस्टर और मेमोरी (Storage — Registers and Memory) :- सीपीयू को दिए हुए निर्देशों का पालन करने के लिए इसे डेटा की आवश्यकता होती हैं, कुछ डेटा इंटरमिडीएट डेटा होते हैं तो कुछ इनपुट या आउटपुट डेटा होते हैं. ये सभी डेटा अपने इंस्ट्रक्शन के साथ रजिस्टर या मेमोरी (रेम-RAM) में सेव होते हैं.
  • रजिस्टर्स (Registers) :- यह रजिस्टर लेचेज (Latches) का कॉम्बिनेशन होता हैं, लेचेज को लॉजिक गेट के फ्लिप-फ्लॉप के कॉम्बिनेशन के नाम से भी जाना जाता हैं जोकि इन्फोर्मेशन का एक बिट स्टोर करता हैं. एक लेच में दो इनपुट वायर होते हैं एक तो राईट एंड इनपुट वायर (Write and Input Wire) और दूसरा आउटपुट वायर (Output Wire) होता हैं. सीपीयू के पास आउटपुट के डेटा को स्टोर करने के लिए रजिस्टर होता हैं, ये डेटा अन्य रजिस्टर को भेजा जाता हैं जोकि बीयूएस (BUS) द्वारा जुड़ा होता हैं. एक रजिस्टर इंस्ट्रक्शन, आउटपुट डेटा, स्टोरेज एड्रेस या किसी भी तरह के डेटा को स्टोर कर सकता हैं.
  • मेमोरी (रेम) Memory (RAM) :- अरेंज्ड और कॉम्पेक्ट (Compact) रजिस्टर को ही रेम कहा जाता हैं जिसमे ज्यादा मात्रा में डेटा को सेव किया जा सकता हैं. यह रेंडम एक्सेस मेमोरी वोलेटाइल होता हैं मतलब कि पॉवर ऑफ करने पर डेटा उड़ सकता हैं. वास्तव में डेटा को पढने / लिखने के लिए रजिस्टर का कलेक्शन ही रेम हैं.
  • इंस्ट्रक्शन क्या हैं ? (What are Instructions):- इंस्ट्रक्शन ग्रेनुयुलर लेवल का कम्प्युटेशन हैं जो कम्प्यूटर परफोर्म करता हैं. सीपीयू विभिन्न तरह के इंस्ट्रक्शन को प्रोसेस कर सकता हैं. जिनमे निम्न प्रकार के इंस्ट्रक्शन शामिल हैं –
  1. अरिथमेटिक इंस्ट्रक्शन जैसे एड और सबस्ट्रेक्ट,
  2. लॉजिक इंस्ट्रक्शन जैसे एंड (and) और (or) एवं नॉट (not),
  3. डेटा इंस्ट्रक्शन जैसे मूव (move), इनपुट (input), आउटपुट (output), लोड (load) और स्टोर (store),
  4. कंट्रोल फ्लो इंस्ट्रक्शन जैसे- गोटू (goto), इफ..गोटू (if … goto), कॉल (call) और रिटर्न (Return),
  5. सीपीयू को ये नोटिफाई करना कि प्रोग्राम ने हाल्ट को बंद कर दिया हैं (Notify CPU that the program has ended Halt)

कम्प्यूटर को असेम्बली लेंग्वेज के उपयोग करते हुए इंस्ट्रक्शन दिए जाते हैं और ये असेम्बली लेंग्वेज कम्पाइलर द्वारा जनरेट होते हैं या फिर कुछ हाई लेवल लेंग्वेज से इंटरप्रीट किये जाते हैं. कम्प्यूटर जिस इंस्ट्रक्शन के ग्रुप को परफोर्म करता हैं उसे इंस्ट्रकशन सेट (Instruction Set) कहते हैं।

अंतिम विचार

दोस्तों अगर आप ने ये आर्टिकल यहाँ तक पढ़ा है तो Processor kya hota hai इस सवाल का जवाब आपको मिल गया होगा अगर अब भी आपके Processor kya hota hai से जुड़े सारे सवालो के जवाब आपको मिल गए होंगे। अगर अब भी आपके Processor kya hota hai या what is processor in hindi से जुडी हुई कोई भी समस्या है तो आप उसको हमसे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। आपका हमारे Processor क्या होता है ? इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए धन्यवाद। अगर आपको what is processor in hindi आर्टिकल पसंद आया तो आप इसे अपने दोस्तों या परिवार वालो के साथ शेयर भी कर सकते है।

और भी पढ़े: मार्केटिंग क्या है और इसको आप कैसे कर सकते है?

 

Leave a Comment