HTTP and HTTPS me Difference in hindi in 2021

दोस्तों अगर आप इंटरनेट में अपना समय व्यतीत करते है और वेबसाइट में इंटरेस्ट रखते है तो आप HTTP and HTTPS के बारे में जरूर से जानते होंगे।

पर ये जो भी आपकी जानकारी है वो अधूरी है और ये आप भी जानते है की अधूरा ज्ञान ठीक नहीं होता है और आप अपने इसी ज्ञान को पूरा करने के लिए HTTP and HTTPS me Difference जानने के लिए और अपने ज्ञान को पूरा करने के लिए यहाँ पर आएं है तो आज हम इस पोस्ट में बात करेंगे HTTP and HTTPS me Difference के बारे में

तो अगर आप HTTP and HTTPS me confussed है और आप इसको ठीक तरह से बिलकुल ही बेसिक से और पूरी जानकारी चाहते है तो सायद ये पोस्ट आपके बहुत काम आ सकती है।

तो अगर आप HTTP and HTTPS के बारे में और भी ज्यादा और जो भी हो उसको सरल भाषा में जाना चाहते है जिससे की क्या हो जो भी आज मैं आपको बताऊ वो आपकी पूरी तरह से समझ में आ जाये तो मैं चाहता हूँ की आप आज इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़िए।

और इस पोस्ट को अंत तक पढ़ने के बाद मैं ापक विस्वास दिलाता हूँ की आपको HTTP and HTTPS me Difference को लेकर बहुत साडी चीजे क्लियर हो जाएँगी और आप ने केवल चीजों के बारे में खुद समझ पाओगे बल्कि आप दुसरो को भी इसके बारे में बता पाओगे तो चलिए अब शुरू करते है ।

HTTP and HTTPS me Difference| Difference between HTTP and HTTPS in hindi-

तो दोस्तों आजकल आप अपनी सुरक्षा का बहुत ध्यान रखते है और रखना भी चाहिए जैसे हम अपनी सुरक्षा के लिए driving करते वक़्त helmet का इस्तेमाल करते हैं, बैंक में पैसे जमा कर हमारे पैसे को सुरक्षित रखते हैं, mobile और laptop को virus से बचने के लिए Antivirus का इस्तेमाल
कर divice को सुरक्षित रखते हैं|

तो ठीक उसी तरह से अगर आप इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करते है तो हमारे और जो भी वेबसाइट है हम दोनों के बिच में एक कड़ी होती है जो हमारी और सर्वर की जानकारी को सुरक्षा देती है

जो जो भी जानकारी या सूचनाओं का आदान प्रदान हमारे और उस वेबसाइट के बिच होना होता है उसको सेफ रखती है और जो भी हैकर है या जो भ्ही कोई जो हमें या उस वेबसाइट को हानि बहुचना चाहता है उससे बचती है।

ये एक तरह की प्रोटोकॉल होती है इस प्रोटोकॉल को ही हम HTTP या HTTPS प्रोटोकॉल कहते है तो सायद अब आपको कुछ कुछ समझ में आने लगा होगा।

What is Http? Http को कैसे समझे ?

Http का पूरा नाम है “Hypertext Transfer Protocol” ये एक प्रकार का network protocol है जो world wide web में उपयोग होता है।

यहाँ पर कुछ नियम होते है किसी भी डाटा को एक सर्वर या एक ब्राउज़र से दूसरे सर्वर तक पहुंचने के लिए और उन दोनों के बिच कम्युनिकेशन को स्टफिट करने के लिए तो इस बात से आप अंदाजा लगा सकते है की http आपके लिए कितना महत्वपूर्ण हो सकता है।

जैसे की मैं आपको इसे एक उदहारण से समझाता हूँ जैसे की आपके अपने ब्राउज़र पर टाइप किया मेरी वेबसाइट का नाम rajdhanichart.com तो जब आप इसको तपे करने के बाद आप एंटर प्रेस करते है ।

http//rajdhanichart.com” जिसके बाद हमारा ISP browser को http के साथ connect करने की अनुमति देता है.

और जिस server मैं उस domain name का hosting रहता है http browser को उस server के साथ connect कर domain नाम से जुड़े सभी data user के screen पर दिखा देता है.

Server में सारे file store रहते हैं और client के request के अनुसार ही server client को response करता है. यहाँ पर हमारा web browser एक client की तरह काम करता है.

Web browser और server के बीच किसी भी प्रकार का data transfer होने पर इन्हे कुछ नियमों का पालन करना होता है. और यह नियम http protocol द्वारा निर्धारित होते हैं।

What is Https? Https क्या होता हे पूरी जानकारी ?

तो  दोस्तों चलिए अब बात कर लेते है https के बारे में https क्या होता है? जिससे और भी चीजे आपको क्लियर हो जाये और आपको इसके बारे में और भी ज्यादा जानकारी प्राप्त हो।

तो https का पूरा नाम है “Hypertext Transfer protocol Secured”. Https भी वही सारे काम करता है जो http करता है लेकिन https protocol में strong security feature मिलता हे.

Https http का secured यानि सुरक्षित version है. क्यूंकि इसमें SSL secure socket layer का इस्तेमाल होता है, जिसका काम browser और server के बीच encrypted form में data transfer करना होता है.

SSL RSA algorithm पर आधारित होता है. जहाँ पर SSL में एक public key और एक private key का उपयोग होता है. Public key का उपयोग information को encrypt करने के लिए और private key को information को decrypt करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

Https connection में सारे data को cryptography द्वारा encrypt कर दिया जाता है. यानी एक ऐसे format में बदल दिया जाता है जिसे बिना decryption key के decode कर पाना मुश्किल होता है.

और इसी तरह transfer हो रहे sensitive data या information को सुरक्षित किया जाता है. Https से data काफी secured रहता है क्यूंकि वह encrypted form में होता है. जिसे hack कर पाना मुश्किल हो जाता है.

अगर किसी hacker ने information को hack भी कर लिया हो तो वह encrypted form में ही रहेगा. जिससे उन डाटा को अपने काम में लाने के लिए hacker को data decryption करना होगा जो थोड़ा मुश्किल काम है.

यही वजह है कि money transfer या online transaction के लिए जितने भी website हैं वह https connection का इस्तेमाल करते हैं ताकि users का data सुरक्षित रहे.

आपने किसी website के URL की शुरुआत में https:// लगा हुआ देखा होगा, इसका मतलब यह है की आपका data SSL के जरिये सुरक्षित किया गया है.

ऐसे URL के सामने हरे रंग का lock icon के साथ secured लिखा हुआ दिखाई देता है।

अंतिम विचार –

दोस्तों अगर आप ने ये आर्टिकल यहाँ तक पढ़ा है तो HTTP and HTTPS me Difference इस सवाल का जवाब आपको मिल गया होगा अगर अब भी आपके HTTP and HTTPS me Difference? से जुड़े सारे सवालो के जवाब आपको मिल गए होंगे।

अगर अब भी आपके HTTP and HTTPS me Difference या Difference between HTTP and HTTPS in hindi से जुडी हुई कोई भी समस्या है तो आप उसको हमसे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

आपका हमारे Http  or Https me kya difference hai ? इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए धन्यवाद। अगर आपको Difference between HTTP and HTTPS in hindi आर्टिकल पसंद आया तो आप इसे अपने दोस्तों या परिवार वालो के साथ शेयर भी कर सकते है।

और भी पढ़े: ईमेल मार्केटिंग क्या है और इसको आप कैसे कर सकते है?

1 thought on “HTTP and HTTPS me Difference in hindi in 2021”

Leave a Comment